Archive for May, 2017

इक बार

Tuesday, May 23rd, 2017

इक बार मोहब्बत हमें भी ढूंढ्ते-ढूंढते नामो-पता, रहगुज़र पूछने आई | चोरी-चुपके ना जाने कब दिल में समा चैन-ऑ-अमन उडाया नींदें भी उडाईं | वाबस्ता नैनोंसे दिल की धडकन बढा चिंगारी लगा, प्रेम-अगन देखने आई | अल्साई ही थी चाँदनी मोगरे के फूल पे कि बैरी भँवरे ने गुंजन से निंदिया उडाई| पाटल खुलते ही […]

उनींदे ख्वाब

Thursday, May 18th, 2017

one can not get relieved from his past .It may be gud or bad .Even then there is a ray of hope, to get blissful sleep.

भोर की किरण

Thursday, May 18th, 2017

A pious soul took birth with angelic beauty and showers from the heaven pouring in to bless the soul to shine in the world.Those who look at her face, they feel every where joy n bliss.

धुँए की लकीर

Wednesday, May 17th, 2017

समलैंगिकता पर आधारित कहानी ।एक आत्मा की ज़ुबानी । जो अपनी पत्नी का लैज़्बियन होना सह नहीं सका ।और हृदयाघात से चल बसा , ये राज़ दिल में ही छिपाए ।